Pudin Hara in Hindi: Usage, फायदे, उपयोग, कीमत, खुराक, साइड इफेक्ट्स

पुदीन हरा कैप्सूल और तरल के रूप में उपलब्ध है और इसका उपयोग अपच, गैसों, अम्लता और पेट में संक्रमण से राहत पाने के लिए किया जाता है। पुदीन हरा एक आयुर्वेदिक औषधि है और यह मेंथा पिपेरिटा और मेंथा स्पाइकाटा का उपयोग करके बनाई जाती है जो हमारे पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में सहायक होती है। पुदीन हरा मुख्य रूप से डाबर द्वारा निर्मित होता है और भारत में इसका उपयोग आमतौर पर अम्लता और पेट दर्द के इलाज के लिए किया जाता है।

Name पुदीन हरा कैप्सूल
Price Rs. 29.00 for 10 Tablets
Manufacturer डाबर इंडिया लिमिटेड
Composition/Salt मेंथा पिपेरिटा, मेंथा स्पाइकाटा

Pudin Hara

Pudin Hara की सामग्री / Composition in Hindi

पुदीन हारा दो जड़ी बूटियों का उपयोग करके बनता है जो विभिन्न पाचन विकारों के इलाज के लिए सहायक होते हैं। ये जड़ी-बूटियाँ हैं

  • मेंथा पिपेरिटा – यह जल-पुदीना और पुदीना को मिलाकर बनाया गया है। यह शरीर में ताजगी प्रदान करता है
  • मेंथा स्पाइकाटा – यह आम पुदीने का वैज्ञानिक नाम है जिसका उपयोग विभिन्न पाचन विकारों और अन्य बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है

Also Read: Pudin Hara Uses in English

Pudin Hara के उपयोग / Uses in Hindi

पुदीन हारा जड़ी बूटियों के उपयोग से बनता है और पाचन विकारों को ठीक करने में बहुत सहायक होता है। पुदीन हारा के उपयोग इस प्रकार हैं –

  • एसिडिटी और गैस से राहत
  • अपच को ठीक करने में मदद करता है
  • पेट के संक्रमण में राहत देता है
  • पेट दर्द का इलाज करता है
  • माइक्रोबियल संक्रमण से बचाव
  • ऑक्सीडेटिव तनाव का इलाज करता है

Pudin Hara खुराक, कैसे प्रयोग करें / Dose in Hindi

पुदीन हारा कैप्सूल और लिक्विड दोनों के रूप में आता है। इसे या तो भोजन से पहले या भोजन के बाद लिया जा सकता है। पुदीन हारा टैबलेट को कुचला या चबाया नहीं जाना चाहिए। इसे सीधे पानी के साथ लेना चाहिए। आमतौर पर वयस्कों के लिए पुदीन हरा की 2 या 3 गोलियां प्रतिदिन लेने की सलाह दी जाती है। आमतौर पर वयस्कों के लिए प्रति दिन 1 या 2 टेबल स्पून पुदीन हरा सिरप लेने की सलाह दी जाती है।

Pudin Hara के नुकसान, दुष्प्रभाव / Side Effects in Hindi

पुदीन हारा एक आयुर्वेदिक दवा है जो मेंथे पिपेरिटा और मेंथे स्पाइकाटा जैसी जड़ी-बूटियों के मिश्रण से बनती है जो हमारे पाचन तंत्र को बढ़ावा देने के लिए उपयोगी हैं। पुदीन हारा जड़ी-बूटियों से बनने के कारण इसका कोई ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है। हालांकि कुछ रोगियों ने पुदीन हारा का सेवन करने के बाद सिरदर्द, चक्कर आना और बार-बार डकार आने की सूचना दी है। लेकिन यह प्राकृतिक अवयवों से बना है इसलिए पुदीन हारा का उपयोग करना 100% सुरक्षित है।

Pudin Hara से सम्बंधित चेतावनी / Warnings in Hindi

इस दवा का सेवन करते समय हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह का पालन करें। अपने चिकित्सक को अपने चिकित्सा इतिहास और एलर्जी के बारे में बताएं। इस दवा के ओवरडोज से बचें। पुदीन हारा अधिकांश रोगियों के लिए उपयोग करने के लिए काफी सुरक्षित है। पुदीन हारा का प्रयोग करते समय कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए –

  • बच्चे – 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए पुदीन हारा की सिफारिश नहीं की जाती है। पुदीन हरा को बच्चों की पहुंच से दूर रखें।
  • गर्भावस्था – गर्भावस्था के दौरान बहुत अधिक पुदीना लेने की सलाह नहीं दी जाती है। पुदीन हारा में पुदीना होता है, कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें।
  • गुर्दा – पुदीन हारा की अधिक मात्रा गुर्दे को नुकसान पहुंचा सकती है, कृपया अधिक मात्रा में या पुदीन हारा के उपयोग से बचें यदि आप किसी गुर्दे की बीमारी से पीड़ित हैं

Leave a Reply